लंबे बालों के लिए सर्वश्रेष्ठ आयुर्वेदिक सुझाव

0
1034
hair-growth
loading...

लोग अब मार्केट में मौजूद उत्पादों पर कम भरोसा करते हैं क्योंकि इनमें होते हैं हानिकारक रसायन और दूसरे कठोर उत्पाद। अब वे प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले आयुर्वेदिक उपचारों का इस्तेमाल करना चाहते हैं। कई तरह की सामान्य समस्याओं के लिए भी अब प्राकृतिक उत्पादों को अपनाया जाता है।

बिल्कुल खास तरह के आयुर्वेदिक उपचारों की मदद से आप अपने बालों को शानदार और लंबे बना सकते हैं। छोटे बालों वाली महिलाएँ अपने लंबे बालों की ख्वाहिश अच्छे देखभाल की कमी की वजह से पूरा नहीं कर पातीं। बालों के बढ़ने के लिए आयुर्वेदिक उपचार हमेशा से मौजूद थे लेकिन उन्हें अपनाया नहीं गया। लेकिन आज इनके इस्तेमाल से ज्यादा से ज्यादा लोग फायदा उठा रहे हैं। आइए कुछ आयुर्वेदिक सुझावों की तरफ ध्यान देते हैं। बाल लम्बे कैसे करे :-

लंबे बालों के लिए सर्वश्रेष्ठ आयुर्वेदिक नुस्खे (Ayurvedic Hindi tips for Long hair growth – balo ko lamba karne k tips)

खुशबूदार जटमानसी (Aromatic Jatamansi)

बाल बढ़ाने के उपाय, जटमानसी आमतौर पर पाया जाने वाला एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है जो कि बालों को बढ़ने में मददगार है। यह खून में से अशुद्धियों को दूर करता है और बढ़ती रंगत देता है। यह बालों की कई तरह से बढ़ने में मदद करता है। आप इसे दवा के रूप में ले सकती हैं या बालों पर सीधे भी लगा सकते हैं। याद रखें कि दवा की तरह इस्तेमाल करते वक्त कैप्सूल 6mg से ज्यादा न  हो।

लंबे बालों के लिए भारतीय करौदा/आँवला (Indian Gooseberry)

आमला के नाम से भारतीय में लोकप्रिय इस आयुर्वेदिक जड़ी को शरीर में अपच की हालत का इलाज करने के लिए प्रयोग किया जाता है । यह वास्तव में बाल गिरने को नियंत्रित करने में बहुत प्रभावी है। आज भी महिलाओं के बालों में हिना के साथ आंवला पाउडर इस्तेमाल करतीं हैं। इस प्राकृतिक उत्पाद में विटामिन सी भरपूर होता है।

बाल लंबे करने के तरीके – बालों की आयुर्वेदिक मालिश (Ayurvedic hair massage)

लोग शायद ही कभी गर्म तेल से मालिश करते हैं जो कि बालों के पोषण के लिए बहुत जरूरी है। आप अब कई तरह के आयुर्वेदिक तेलों से बालों और जड़ों की मालिश कर सकते हैं। इसके लिए आप ब्राह्मी या नारियल का तेल इस्तेमाल कर सकते हैं। यह बालों की जड़ों को पुनर्जीवित करने के साथ ही इनका झड़ना भी कम करते हैं और सिर्फ 6 महीनों के छोटे से समय में ही आप पाएंगें बेहतरीन लंबे बाल।

भ्रंगराज (Bhringaraj)

भ्रंगराज नाम है जड़ी बूटियों के राजा का जिसमें बालों की लंबाई बढ़ाने का बेहतरीन गुण है। लंबे बाल के उपाय, इसके पत्तों को धो कर पेस्ट बना लें। जिन्हें यह पत्तियाँ न मिलें वे आयुर्वेदिक दुकानों से इसका पाउडर ले सकते हैं। इसकी 5-6 चम्मच पाउडर को गर्म पानी में डालकर पेस्ट बना लें और फिर बालों में लगाकर 20 मिनट तक रखें।

लंबे बालों के लिए मेथी (Methi)

कुछ चम्मच मेथी के बीजों को गर्म पानी में मिलाएँ और ठंडा करने के बाद बालों पर लगाएँ और फिर धोएँ।

एलोवेरा (Aloe Vera)

रोज दो चम्मच एलोवेरा का सत्व खाने में लें इससे शरीर स्वस्थ रहेगा और इसे बालों में लगाने से बाल शानदार तरीके से बढ़ते हैं।

लंबे बालों के लिए अश्वगंधा (Asswagandha)

यह एक प्रमुख आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है। उम्र बढ़ने से रोकने के साथ ही यह पित्त दोष भी दूर करता है। जिसे दूर करने से बालों का झड़ना भी बंद हो जाएगा।

मार्गोसा के पत्ते (Balo ko badhana Margosa leaves se)

इस जड़ी को 4 कप पानी में उबालें। अब इसे ठंडा करके पत्तियों को छान लें और इस पानी से बालों को धोएँ। इससे आपको अधिक अच्छे बाल मिलेंगे।

करी पत्ते और नींबू का छिलका (Curry leaves and lemon peel)

15 से 20 करी पत्ते और एक नींबू का छिलका लीजिए। आपको सोप नट के पाउडर, हरा चना और मेथी के बीजों की भी जरूरत पड़ेगी।  इन सब को मिलाकर मिश्रण को बालों पर लगाएँ और बाद में शैम्पू से धो दें।

बाल लंबे करने के तरीके – पानी (Water)

कुछ लोगों को ज्यादा पानी पीने की आदत नहीं होती जिससे मेटाबोलिक प्रक्रिया ठीक रहती है। पर्याप्त पानी पीने से शरीर से हानिकारक पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। नियमित रूप से पानी पीने से बाल स्वस्थ रहते हैं और इनके बढ़ने में कोई रुकावट नहीं होती।

हिना की कंडीशनिंग (Henna conditioning)

बाल बढ़ाने के घरेलू उपाय, हिना ऐसा आयुर्वेदिक उत्पाद है जिसमें बालों की जड़ों मजबूत बनाने और इनकी बढ़त के लिए पर्याप्त मात्रा में सभी जड़ी-बूटियाँ मौजूद हैं। इसे दो हफ्तों में कम से कम एक बार लगाएँ।

बाल लंबे करने के तरीके रीठा से (Reetha)

एक समय था जब स्त्रियाँ अपने बाल धोने के लिए रीठा इस्तेमाल किया करतीं थीं। उस समय जब कोई शैम्पू और कंठीशनर नहीं हुआ करते थे। फिर भी उस समय औरतों के बाल लंबे और घने होते  थे। और यह सब इस आयुर्वेदिक उत्पाद के इस्तेमाल से संभव हुआ।

शिकाकाई (Shikakai)

आजकल आप शिकाकाई पाउडर किसी भी आर्गेनिक स्टोर से ले सकते हैं। इसे सिर्फ पानी में मिलाकर पूरे बालों में लगाएँ और स्वस्थ व लंबे बाल पाएँ।

कुंठला और नीलीभ्रंगदी तेल (Kunthala and neelibhringadi oil)

यह एक आयुर्वेदिक तेल है जो कि बालों के बढ़ने में मदद करता है। इससे बालों की हल्के से मालिश करने से रक्त का बहाव ठीक रहता है।

पालक, गाजर और सलाद पत्ता (Spinach, carrot and lettuce)

पर्याप्त मात्रा में पालक, सलाद का पत्ता और गाजर लें तथा इसे पीसकर इसमें थोड़ा पानी मिश्रित करें। इस रस का सेवन करने से बालों की बढ़त में काफी सहायता मिलती है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here